Raag Khamaj | राग ख़माज – ऑनलाइन हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत सीखें

आरोह सा ग म प ध नी सा’ अवरोह सा’ नी ध प म ग रे सा पकड़ ग म प नी ध म प ध म ग जाती षाड़व – सम्पूर्ण वादी / सम्वादी ग / नी थाट ख़माज समय शाम 6 बजे से 9 बजे रात तक स्वर आरोह में सभी शुद्ध अवरोह …

Raag Khamaj | राग ख़माज – ऑनलाइन हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत सीखें Read More »

राग हमीर | Raag Hamir | ऑनलाइन सीखिए हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत

आरोह सा रे ग म ध नी सा’ अवरोह ‘सा नी ध प – मप – ग म रे सा पकड़ ग म नी ध- प – म प – ग म रे सा जाती षाडव -सम्पूर्ण वादी / सम्वादी ध / ग थाट कल्याण प्रहर रात्रि ( 9 से 12 ) स्वर सभी शुद्ध

राग थेरेपी – क्या रागों को सुनने से दूर होते हैं असाध्य रोग ?

राग दरबारी : तानसेन द्वारा रचित ये राग आधी रात में गाया जाता है और इसको सुनने से तनाव से मुक्ति मिलती है। राग बागेश्री : इस राग को सुनने से डाइबिटीज और उच्च रक्तचाप ( Hypertension ) से आराम मिलता है। राग तोड़ी : इसे सुनने से उच्च रक्तचाप ( High Blood Pressure ) …

राग थेरेपी – क्या रागों को सुनने से दूर होते हैं असाध्य रोग ? Read More »

Raag Jaunpuri – Learn Indian Classical Music Online In Hindi

Aaroh S-R-m-P,dm,PdnS’ Avroh S’-n-d-P,d-m-P,g-R-S Pakad dm,PdnS’-d-P,d-m-P,R-m-P Jati Shadav-Sampoorn Vadi / Samvadi Sa/Pa Thaat Asavari Time Morning (9 am – 12 pm) Swar Ga Dha Ni Komal Swar दईया रे दईया लाज मोहे लागे दिल जलता है तो जलने दे झनक झनक तोरी बाजे पायलिया तेरी दुनिया में दिल लगता नहीं Best Digital Tanpura In Discounted …

Raag Jaunpuri – Learn Indian Classical Music Online In Hindi Read More »

Raag Bilawal – Learn Indian Classical Music Online

Raga Bilawal is a Hindustani Classical Raga that belongs to Bilawal thaat so it’s defining raga of its thaat. Most of us learn this raga during the first year training of Indian Classical Music. This Raga contains all Shudh Swar so it is easy to learn. Aaroh S-GR-GP-DN-S’ Avroh S’N-DP,DnDP,mG-mR-S Pakad GPDnS’,S’NDnDP-mGmRS Jati Shadav-Sampoorn Vadi …

Raag Bilawal – Learn Indian Classical Music Online Read More »